मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना

मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना –

“मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना“ में सामान्य श्रेणी ग्रामीण के कृषि कनेक्शन उपभोक्ताओं को बिलिंग माह मई,2021 से विद्युत बिलों में 1000 रू. प्रतिमाह अधिकतम 12000 रू. प्रतिवर्ष का अतिरिक्त अनुदान दिया जाएगा।

मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना के तहत सामान्य श्रेणी-ग्रामीण (ब्लॉक ऑवर सप्लाई) के मीटर्ड एवं फ्लेट रेटश्रेणी कृषि उपभोक्ताओं को वर्तमान में दिये जा रहे टैरिफ अनुदान के साथ-साथ अतिरिक्त अनुदान प्रतिमाह 1,000रूपये तक (अधिकतम 12,000 रूपये प्रतिवर्ष) विधुत विपत्र में समायोजन के माध्यम से निम्न शर्तो के अधीन दियाजाना प्रावधित किया गया है-

उक्त योजना तीनों विधुत वितरण निगमों में बिलिंग माह मई, 2021 अर्थात 1 मई एवं उसके बाद जारी होनेवाले कृषि बिलों पर लागू होगी। विधुत विनियामक आयोग द्वारा जारी अद्यतन विधुत आपूर्ति केसेवा-शर्ते-2021 के अनुसार बिलिंग माह से है, जिसमें बिल जारी किया गया है।

विधुत वितरण निगमों द्वारा बजट घोषणा की अनुपालना में सभी कृषि उपभोक्ताओं को विधुत विपत्रद्विमासिक (प्रति दो माह) आधार पर जारी किए जायेंगे।

अतिरिक्त अनुदान राशि केवल सामान्य श्रेणी-ग्रामीण (ब्लॉक ऑवर सप्लाई) के मीटर्ड (चालू/बंद/खराबआदि सभी स्थितियों में) एवं फ्लेट रेट श्रेणी कृषि उपभोक्ताओं को देय होगी।

पात्र कृषि उपभोक्ताओं को, चालू बिलिंग माह में बिल जारी करते समय निगम की कोई भी पूर्व बकाया राशिनहीं होने पर विद्युत विपत्र में देय अनुदान राशि, इस परिपत्र के अनुसार समायोजित की जाएगी। अतएव,सभी सम्बन्धित सहायक अभियन्ता, उपभोक्ताओं को इस योजना का अधिकतम लाभ उठाने के लिए अपनेविधुत विपत्रो का भुगतान देय तिथि तक करने हेतु प्रेरित करेंगे।

योजना के अन्तर्गत पात्र कृषि अपभोक्ताओं को वर्तमान में देय टैरिफ अनुदान के पश्चात भुगतान योग्यबिजली बिल राशि अधिकतम 1,000 रूपये प्रतिमाह (अधिकतम 12,000 रूपये प्रतिवर्ष) का समायोजन विद्युतबिलों में किया जायेगा। यदि किसी माह कृषि उपभोक्ता की पुनर्भरण राशि 1,000 रूपये प्रतिमाह से कम हैतो शेष राशि का समायोजन उसी वित्तीय वर्ष के शेष आगामी माहों में किया जावेगा।

योजना चालू होने के उपरान्त (बिलिंग माह मई, 2021) के माह/माहों की बकाया राशि का भुगतान आगामीमाह में करने पर उक्त माह/माहों की देय बकाया अनुदान राशि का समायोजन उसी वित्तीय वर्ष के शेषआगामी माहों में किया जावेगा।

वर्ष के मध्य में नया कनेक्शन जारी करने की स्थिति में अनुदान की वार्षिक सीमा आनुपातिक रूप से देयहोगी।

यदि उपभोक्ता विद्युत अधिनियम-2003 की धारा 126 (विद्युत दुरूपयोग की दशा में) 135 (विद्युत चोरी कीदशा में) व 138 (विद्युत चोरी व निगम सम्पŸिा की दशा में) के अन्तर्गत दोषी है, तो अनुदान राशि उसके दोषमुक्त होने एवं सम्पूर्ण आरोपित राशि जमा करवाने के उपरान्त आगामी बिलिंग माह में देय होगी।

उक्त योजना का लाभ के लिए कृषि उपभोक्ता के विद्युत खाता संख्या से आधार संख्या एवं बैंक खाता संख्याको जुडवाना आवश्यक होगा। चूकिं कृषि उपभोक्ता के विद्युत खाता संख्या को आधार संख्या व बैंक खातासंख्या से जुड़वाने में समय लगना संभावित है, अतः जुलाई, 2022 तक आधार संख्या व बैक खाता संख्यानहीं जुड़ने की स्थिति में भी अनुदान का लाभ देय होगा।

मुख्यमंत्री किसान ऊर्जा मित्र योजना की पात्रता

  • समस्त सामान्य श्रेणी ग्रामीण (ब्लॉक ऑवर सप्लाई) कृषि उपभोक्ता अतिरिक्त अनुदान हेतु पात्र।
  • बिजली बिल राशि 1000 रूपये प्रतिमाह से कम होने पर शेष राशि का समायोजन उसी वित्तीय वर्ष केआगामी माहों में।
https://energy.rajasthan.gov.in/content/raj/energydepartment/en/departments/avvnl/news/_-_-_-_-_.html

Leave a Reply

Your email address will not be published.