राजीव गाँधी कृषक साथी सहायता योजना –2009

राजीव गाँधी कृषक साथी सहायता योजना –2009

योजना की पात्रता –

कृषकों, खेतिहर मजदूरों, पल्लेदारों द्वारा कृषि एवं विपणन कार्य जैसे कुआं एवं ट्यूबवैल खोदते समय, बिजलीकरन्ट लगने, कृषि यंत्रों के उपयोग करने, टेªक्टर ट्राली, ऊँट लढ्ढा, बैल गाड़ी, भैंसा गाड़ी आदि पलटने, मण्डियों मेंबोरियों की धांग लगाते समय, साँप या जहरीले जानवर एवं ऊँट के काटने, कीटनाशी छिडकाव आदि कार्य करतेसमय अंग-भंग होने या मृत्यु होने पर कृषक अथवा उसके आश्रित को जो भी लागू हो परिस्थिति अनुसार निम्नप्रकार सहायता राशि देय है।

  1. मृत्यु होने पर आश्रित को2,00,000 रुपये
  2. दो अंग, जैसे दोनों हाथ, दोनों पांव, दोनों आंख, कोईएक-एक अंग अलग से कटने पर50,000 रुपये
  3. रीढ़ की हड्डी टूटने, सिर पर चोट से कोमा में जाने पर50,000 रुपये
  4. पुरूष अथवा महिला के सिर के केश (बालों) कीडी-स्केल्पिंग होने पर40,000 रुपये
  5. पुरूष अथवा महिला के सिर के केश (बाल) की आंशिक(छोटे भाग की) डी-स्केल्पिंग होने पर25,000 रुपये
  6. एक अंग जैसे एक हाथ, पैर, आंख, पंजा, बांह आदि के अंगभंग होने पर25,000 रुपये
  7. चार अंगुली कट जाने पर (पूर्ण रूप से या हिस्से में) 20,000
  8. तीन अंगुली कट जाने पर 15,000 रुपये
  9. दो अंगुली कट जाने पर 10,000 रुपये
  10. एक अंगुली कट जाने पर 5,000 रुपये
  11. मण्डी प्रांगण में कार्यरत पल्लेदार/मजदूर के मण्डी प्रांगण मेंकृषि/विपणन कार्य करते समय दुर्घटना में फ्रैक्चर होने पर5,000 रुपये

योजना में आवेदन के लिए आवश्यक दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • राशन कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र
  • जाति प्रमाण पत्र
  • बैंक अकाउंट पासबुक

Leave a Reply

Your email address will not be published.